नई दिल्ली। केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने शनिवार को बयान देते हुए यह कहा कि, “सरकार रत्न एवं आभूषण क्षेत्र को बेहतर वातावरण और बाजार पहुंच प्रदान करने पर काम कर रही है।” वाणिज्य और उद्योग मंत्री पीयूष गोयल सांताक्रूज इलेक्ट्रॉनिक एक्सपोर्ट प्रोसेसिंग जोन स्पेशल इकोनॉमिक जोन (सीपज सेज) में एक मेगा कॉमन फैसिलिटी सेंटर के शिलान्यास समारोह को संबोधित कर रहे थे। अपने संबोधन के दौरान केंद्रीय मंत्री ने यह कहा कि, “हम ना केवल रत्न एवं आभूषण उद्योग को केवल 40 बिलियन अमरीकी डॉलर का उद्योग बनाने के बारे में सोच रहे हैं, बल्कि हमारी महत्वाकांक्षा इससे आगे की है । हम अपनी ओर से उस लक्ष्य तक पहुँचने के लिए सब कुछ करेंगे जिन्हें आपने इस व्यापार की क्षमता के रूप में बढ़ाने के लिए सुझाया था।”

केंद्रीय वाणिज्य और उद्योग, उपभोक्ता मामले एवम खाद्य और सार्वजनिक वितरण तथा कपड़ा मंत्री पीयूष गोयल ने कहा कि, “हम विशेष रूप से रत्न और आभूषण क्षेत्र के लिए सक्षम वातावरण और बाजार पहुंच प्रदान करने के लिए कई देशों के साथ काम कर रहे हैं। हमारा लक्ष्य इस परियोजना को कोविड से लड़ते हुए पूरा करना है। सरकार SEEPZ के पुनर्निर्माण के फैसलों पर भी काम कर रही है। संयोग से, हमने पूरे SEEPZ ​​क्षेत्र के समग्र सुधार और पुनर्निर्माण के बारे में कई अन्य निर्णय लिए थे। आदर्श रूप से, हम उसी पद्धति का उपयोग कर सकते हैं जो इस परियोजना के लिए जरूरी और बेहतर है।”